क्या आप सुबह जल्दी उठना चाहते हैं? लेकिन बार-बार कोशिशों के बावजूद भी आप इस आदत को अपने जीवन में स्थापित करने में कामयाब नहीं हो रहे हैं? क्या आप पूरा दिन असंगठित, आलसी और अप्रबंधित महसूस करते है? और पूरा दिन भागदौड़ करने के बावजूद भी आपके काम छूट जाते हैं?

Wake up Early in the Morning in Hindi

Wake up Early in the Morning in Hindi

अगर आपका जवाब हाँ है, तो यह लेख आपके लिए ही है।

क्योंकि इस लेख में, हम आपको बताएँगे की सुबह जल्दी उठने के क्या फायदे हैं? (Benefits of Early Morning), सुबह जल्दी कैसे उठे? (How to Wake up Early) और जल्दी उठने से आप कैसे ज्यादा Productive बन सकते हैं? तो चलिए डालते है आप में सुबह जल्दी उठने की आदत।

सुबह जल्दी उठने के ग़जब फ़ायदे

रचनात्मक काम के लिए श्रेष्ठ समय: सुबह-सुबह मन की शांति अपने सबसे उच्च स्तर पर होती है इसलिए इस समय में किया गया कोई भी काम ज्यादा अच्छे परिणाम देता हैं।

इसी लिए ज्यादातर रचनात्मक लोग इस समय में रचनात्मक कार्य करना ज्यादा पसंद करते हैं ।

उत्पादक समय: सुबह आपका मन शांत, रचनात्मक और केन्द्रित होता है जिसकी वजह से आप अपनी उत्पादक (Productive) क्षमता भी बढ़ा सकते हैं ।

दिन के शुरुआती घंटो में शोर कम होता है जिसकी वजह काम पर फोकस करना आसान होता है जिससे आप कम समय में ज्यादा काम ख़तम कर सकते हैं ।

दिन की सकारात्मक शुरुआत: पूरी रात की गहन निद्रा की वजह से आपका मन सुबह परिपूर्णता से भरा होता है, नकारात्मक शक्तियां अपने निम्न स्तर पर होती है और इसलिए दिन की सकारात्मक (Positive) शुरुआत करने के लिए यह सबसे अच्छा समय है ।

वैज्ञानिक अध्ययन द्वारा पाए गए तथ्य:

Texas University के एक अध्ययन से यह पता चला है की सुबह जल्दी उठने वाले विद्यार्थी, देर से उठने वाले विद्यार्थी से अच्छे मार्क्स हासिल करते है और आगे जाकर औसत लोगों से ज्यादा सफल (Successful) होते हैं ।

कई और वैज्ञानिक अध्ययन द्वारा यह साबित हुआ है की जल्दी उठने वाले लोग, देर से उठने वाले लोगों से ज्यादा खुश, ज्यादा उत्साह भरे और सक्रिय होते हैं ।

ऐसे ही आयुर्वेद और पौराणिक वेदों में भी सुबह जल्दी उठने का विशेष महत्व दर्शाया गया है ।

पुराणों में बताया गया है की सुबह जल्दी उठने वाले लोग सुंदरता, बुद्धि, स्वास्थ्य और लंबी आयु प्राप्त करते है ।

जल्दी उठने के इतने सारे फायदे होने के बावजूद भी बहुत सारे लोग आज भी जल्दी उठते नहीं है और इसकी वजह है उनको सुबह जल्दी उठने की आदत कैसे डालें उसका सही ज्ञान नहीं हैं।

तो अब जानते ही की कैसे जल्दी उठने की आदत डालें और इसे कायम रखें।

सुबह जल्दी उठने के अचूक तरीके

सुबह जल्दी उठने के उपाय बहुत है और सभी काम भी करते है। पर हर किसी के लिए उनपर अमल करना आसान नहीं है। लेकिन हाँ आसान है, अगर आप नीचे लिखे गए “सुबह जल्दी उठने के आसान तरीके” का पालन करते है।

1. सुबह जल्दी उठने के लिए मजबूत कारण ढूंढे।

अगर आप सुबह जल्दी उठना चाहते हैं तो इसके लिए कोई मजबूत वजह होनी जरूरी है। क्योंकि अगर आपके पास कोई मजबूत वजह ही नहीं होगी तो आप कुछ दिन तो सुबह जल्दी उठ जाएँगे लेकिन इस आदत को जारी नहीं रख पाएँगे।

तो आज ही ढूंढ ले एक मजबूत कारण, जो आपको हर रोज़ सुबह जल्दी उठने के लिए प्रेरित (Inspire) करे और आप में जुनून भरे।

वह कारण ऐसे हो सकते हैं:

  • अपने उज्जवल भविष्य के लिए जल्दी उठना हैं।
  • अपने दिन को व्यवस्थित (Organize) करने और ज्यादा उत्पादक (Productive) बनाने के लिए जल्दी उठना हैं।
  • कुछ नया सीखने के लिए जल्दी उठना हैं।
  • अपने आत्म विकास (Self development) और आत्म सुधार (Self Improvement) के लिए जल्दी उठना हैं ।

अगर आपको एक भी मजबूत वजह मिल जाएगी तो आपको हर रोज़ सुबह उठने में आलस नहीं बल्कि मज़ा आने लगेगा।

किसी ने खूब कहा है की “अगर आपको किसी चीज की दिल से चिंता है तो आपको आपका शरीर सही समय से पहले नींद से जगा देगा।”

2. रात को सही समय पर सोने की आदत डाले।

आपने सुबह जल्दी उठने के लिए एक मजबूत वजह ढूंढ ली है तो इसका मतलब आप सुबह जल्दी उठने के लिए मानसिक तौर पर तैयार हो चुके है लेकिन सिर्फ इससे काम नहीं बनेगा, क्योंकि हमें कोई भी परिणाम हासिल करने के लिए मन और तन दोनों की सहमति और सहायता की जरुरत होती हैं ।

इसलिए अब अगला कदम है हमारे शरीर को इस आदत में सहयोग करने के लिए तैयार करना और इसके लिए यह बहुत जरूरी है की आप रात में सही समय पर सोने जाए

अगर आप ऐसा नहीं करते है तो आपको अपना शरीर जल्दी उठने में सहयोग नहीं करेगा।

जैसे की अगर आप रात में 1 या 2 बजे सोने जाएँगे और सुबह 5 या 6 बजे उठने की कोशिश करेंगे तो नहीं उठ पाएँगे, क्योंकि आपकी नींद पूरी नहीं हुई इसलिए आपका शरीर आपको रोके रखेगा।

और अगर आप ज़बरदस्ती उठ भी गए तो पूरा दिन थका हुआ गुजरेगा इसलिए अगर 5-6 बजे उठना है तो कम से कम 11 बजे से पहले सोने जाए।

नोट: हमें हर रोज़ कम से कम 6-8 घंटे की नींद की आवश्यकता होती है इसलिए आप इस समय को ध्यान में रखकर सोने और जागने का प्लान बनाए।

3. जल्दी उठने के लिए छोटे बदलावों से शुरु करें।

अब आप मानसिक और शारीरिक तौर पर सुबह जल्दी उठने के लिए तैयार हैं, तो अब हमारा अगला कदम है की हम हमारे लिए उठने का एक सही और आदर्श समय चुने ।

अब यह आदर्श समय कौन सा हैं?

जैसे की अगर आप अभी 8 बजे उठते हैं तो आपके लिए कल उठने का आदर्श समय है 7:45 । जी हाँ बस सिर्फ 15 मिनट ही जल्दी उठना हैं, इसके पीछे की वजह यह है की अगर हम छोटे-छोटे बदलाव करेंगे तब ही हम ज्यादा दूरी तक आगे बढ़ पाएँगे और इसका मज़ा ले पाएँगे।

सोचों अगर आप आज 8 बजे उठते हैं और कल से 6 बजे उठना शुरू कर देंगे तो क्या होगा? आप एक, दो या पांच दिन तो उठ जाएँगे लेकिन फिर आपको यह बोरियत भरा लगेगा और आपका शरीर भी इसे स्वीकार नहीं करेगा।

क्योंकि आज तक आपके शरीर का अलग तरह का टाइम टेबल था और आपने उसमें अचानक से बड़े फेरबदल कर दिए तो उसका सिस्टम उसे नकार देगा।

इस लिए पहले दिन हमेशा 15 मिनट से ही शुरुआत करें फिर इसे 3 से 5 दिन तक बनाए रखे, फिर इसमें और 15 मिनट काट डालें और फिर इसे 3 से 5 दिन तक बनाए रखे और ऐसे अपने लक्ष्य (Goal) के समय तक बनाए रखे और आगे बढ़ते रहें।

4. अलार्म घड़ी का उपयोग करे।

अब आपको यह भी पता है की किस समय उठना हैं, तो अब उस समय का अलार्म सेट कर के अपने बिस्तर से थोड़ा दूर ऐसी जगह पर रख लें जहाँ अगर आपको अलार्म बंद करना हो तो 5 से 10 कदम चल कर जाना पड़े।

इससे क्या होगा की आप अपने अलार्म को आसानी से बंद नहीं कर पाएँगे क्योंकि सुबह-सुबह गहरी नींद में और ज्यादा देर तक सोने का ख़याल अवश्य आएगा और यह विचार आपके सुबह जल्दी उठने की आपकी आदत (Habit) को खराब कर सकता हैं।

इस लिए अलार्म थोड़ा दूर रखे हो सके तो आईने के पास रखे और वहां पे अपनी मजबूत वजह भी लिख लें, जिससे क्या होगा की जब भी आपको अलार्म बंद करने और थोड़ी देर सोने का ख़याल आयें तो आपको आईने के सामने खड़े हो कर ज़ोर से बोलना है की अब मुझे जागना ही होगा अपने उज्जवल भविष्य के लिए, अपने सपनों (Dreams) के लिए, अपने लक्ष्य (Goal) के लिए। इससे आपको अपने अंदर के इस सोने वाले विचार ख़त्म करने की प्रेरणा (Inspiration) और शक्ति मिलेगी।

5. जल्दी उठने के बाद खुद को इनाम दें।

एबार आपने जो तय किया और वह हासिल कर लिया तो अब समय है की हम अपने आप को कुछ इनाम दें जिससे हमारी यह आदत (Habit) आगे भी बनी रहे।

इस लिए आप भी जल्दी उठने के बाद अपने आपको इनाम दें सकते हैं, जैसे की अगर आपको खेलना पसंद हैं तो आप कुछ समय खेल सकते हो या आपको कोई फूड पसंद है तो अपना मनपसंद फूड बनाकर खा सकते हो। इससे हमें अपने आप को प्रोत्साहन मिलता हैं अगली बार इससे भी अच्छा काम करने के लिए।

6. बिस्तर में अच्छी नींद ले।

अगर आप दो घंटे भी अच्छी लेते है तो उससे भी आपकी सारी थकान दूर हो जाएगी। इसलिए रात को बिस्तर में अच्छी नींद लेने का प्रयास करे।

  • आपका बिस्तर सही से बिछा होना चाहिये और आरामदायक होना चाहिये।
  • ज्यादा कपड़े पहनकर ना सोये, कम से कम कपड़े पहने।
  • सोने से पहले फ़ोन का इस्तेमाल कम करे, फ़ोन की स्क्रीन लाइट आपकी आँखो को परेशान करती है।
  • फ़ोन को अपने से दूरी पर रखकर सोये।

अब बात करते है की सुबह जल्दी उठने के बाद अपने समय का कैसे सर्वाधिक उपयोग कर हम ज्यादा उत्पादक (Productive) बने।

सुबह जल्दी उठने के बाद क्या करें?

जैसे दूध में छाछ डालने से हमें दही ही मिलेगा मक्खन नहीं, मक्खन प्राप्त करने के लिए तो हमें उस दही का मंथन करना होगा। वैसे ही सुबह जल्दी उठने से हमें एक अच्छी आदत प्राप्त होगी लेकिन उस सुबह का सदुपयोग नहीं करेंगे तो मक्खन यानी सच्चा लाभ नहीं प्राप्त होगा ।

तो आयें जाने की उस बहुमूल्य समय का हम कैसे सदुपयोग करें।

7. शारीरिक व्यायाम, योग आसन और मैडिटेशन करे।

व्यायाम से आपके शरीर में से आलस (Laziness) ग़ायब हो जाएगी और आप ऊर्जा वान महसूस करेंगे। इससे आपकी सेहत पर भी बहुत अच्छा प्रभाव होगा। आप ज्यादा शक्तिशाली, ज्यादा युवा और ज्यादा सक्रिय बन जाएँगे। मैडिटेशन आपकी ध्यान केंद्रित करने की क्षमता को बढ़ाए गा।

इसलिए सुबह जल्दी उठ कर व्यायाम करें, योग करें अथवा पार्क में टहलने जाए।

8. ध्यान लगाए।

ध्यान (Meditation) के लिए यह बहुत ही आदर्श समय हैं, इस समय वातावरण बहुत शांत होता है इस लिए आप आसानी से ध्यान में गहरे उतर सकते हैं। ध्यान से आपकी मन की शक्तियां और एकाग्रता (Concentration) बढ़ेगी।

इस पवित्र समय में ध्यान करना बहुत ही उचित हैं।

9. अच्छी पुस्तकें पढ़े।

अच्छी पुस्तक (Self-help Books) पढ़ने के साथ अगर आप अपने दिन का प्रारंभ करते हैं तो आपका पूरा दिन बहुत ही सकारात्मक (Positive) और आत्मविश्वास (Confidence) से भरा बना रहेगा।

क्योंकि सुबह पढ़ी हुई बातें हमें लंबे समय तक याद रहती है और इससे हमें एक सकारात्मक (Positive) और ज्ञान से भरी शुरुआत मिलेगी। अगर आप विद्यार्थी है तो आपको इस समय अपने विषय की पुस्तकें पढ़नी चाहिए इससे आपको पढ़ाई में बहुत फायदा होगा।

10. कुछ नया सीखें।

यह मेरा सबसे पसंदीदा काम हैं, जिसके जरिये मैंने बहुत कुछ सिखा है और सुबह का अधिकतम लाभ उठाया हैं।

सुबह-सुबह हमारा मन शांत, एकाग्र और बहुत ही तीक्ष्ण होता है यह समय कुछ नई चीज़े सीखने के लिए बहुत ही आदर्श समय होता हैं।

इस लिए आप इस समय का उपयोग कुछ नए कौशल सीखने में कर सकते हैं। जैसे की अगर आप गाना सीखना, पेंटिंग बनाना, कोई संगीत उपकरण बजाना या कोई नई भाषा सीखना चाहते है तो आप इस समय यह ज़रूर करें इससे आप बहुत ही जल्द एक नया कौशल विकास कर पाएँगे।

11. सूर्योदय का आनंद लें।

सुबह जल्दी उठने के बाद सूर्योदय का आनंद ज़रूर लें यह प्रकृति का एक अदभुत नज़ारा हैं इसको देखना मत चुके। देखें कैसे नीले आकाश में पूर्व से एक आग का गोला ऊपर उठता हैं, कैसे आकाश में रंग भरता हैं, कैसे सूर्य उदय होता हैं और कैसे पूरे आकाश मैं उजाला फैलता हैं।

देखें सूर्योदय में पक्षियों भी कैसे गुनगुनाते है और सूर्योदय का स्वागत करते हैं। यह अदभुत और शानदार नज़ारा है और इससे बेहतर सुबह की क्या शुरुआत हो सकती हैं।

निष्कर्ष:

दुनिया के लगभग सभी सफल व्यक्ति (Successful Person) सुबह जल्दी उठते हैं और इस आदत (Habit) का समर्थन भी करते हैं। वे यह भी बताते है कि उनकी सफलता (Success) के पीछे जल्दी उठने की आदत (Early Morning Habit) का बहुत बड़ा श्रेय है।

तो अगर आप भी अपने जीवन में बड़े बदलाव देखना चाहते हैं तो जल्दी उठे (Rise Early), उठकर जीवन को बदलने वाले महत्वपूर्ण काम करें, उत्पादक (Productive) बने और उस पवित्र समय का सदुपयोग कर के स्वास्थ्य (Health), सफलता (Success) और ख़ुशियों (Happiness) के मालिक बने।

किसी ने कहा है: “जो जागे वो पावे, जो सोये सो खोये

साथ ही ऐसा भी माना जाता है की सुबह सुबह धन की देवी लक्ष्मी माता और ज्ञान की देवी सरस्वती माता किरपा बरसाती है। इसलिए सुबह जल्दी उतना चाहिये।

नोट:

  • सुबह उठकर सीधा ज़मीन पर पैर ना रखे पहले धरती माता को हाथ लगा कर नमन करे।
  • सुबह उठकर पहले भजन सुने और फिर कोई भी मोटिवेशनल गाने सुन सकते हो।
  • सुबह उठकर ब्रश और स्नान जरूर करे। और अपने बढ़ो को प्रणाम करे।

इन सभी अचूक तरीकों के इस्तेमाल के बाद निश्चित ही आप सुबह जल्दी उठने की आदत में ढल जायेंगे। अब आप कभी भी सुबह जल्दी उठने में आलस नहीं करेंगे। इस ब्लॉग पोस्ट को उनके साथ भी शेयर करे जो की सुबह जल्दी जागने में आलस करते है। इसी तरह के ज्ञानवर्धक जानकारी के लिए हिंदी में जानकारी वेबसाइट को सब्सक्राइब करे।