Time Management Tips: बचपन से हमें यही सिखाया जाता है कि “Time is Money” शायद टीचर के डर से इसे रट भी लिया था लेकिन इसे ज़िदगी में अपनाया कितने लोगों ने? समय एक ऐसी चीज़ है जिसकी व्याख्या शायद कोई ना दे सकें, लेकिन हाँ अगर आपके पास समय है तो आपके पास सबकुछ है

कभी किसी रिश्ते को समय देकर देखिये वो रिश्ता संभालेंगे भी और सुधरेगा भी । कभी किसी प्रोजेक्ट पर थोड़ा और समय दीजियेगा, प्रोजेक्ट ‘More than average’ यानी बाकियों से अच्छा होगा । और रही बात पैसों की तो, दुनिया में वही अमीर हुआ है, जिसने समय के मोल को सही वक़्त पर पहचान लिया।

आज का ये लेख, आपको शायद समय को, एक अलग नज़रिए से देखने में मदद करेगा और साथ ही साथ आपको Time Management सिखायेगा।

विषय सूची

Arnold Bennett जी कहते है की जब भी आप सुबह उठते है तो आपके पर्स में बिना कुछ किये 24 घंटे यूँ ही पड़े मिलते है । ये वो 24 घंटे है जो ना कोई आपसे चुरा सकता है, ना कोई छीन सकता है और ना ही समय को कम ज्यादा किया जा सकता है।

ये आपके है, अब आप इसे इस्तेमाल करें या ना करें, आपको सजा देने वाला कोई नहीं है। आपसे कोई नहीं पूछे गा की आपने 24 घंटे का क्या किया। ये आपकी ज़िदगी है, आपके 24 घंटे या तो जी लें या इन 24 घंटों को निचोड़ लें।

🕒 टाइम मैनेजमेंट क्या है – What is Time Management in Hindi

What is Time Management in Hindi

What is Time Management in Hindi

“Time Management” वह तरीका है जिसे हम अपने समय का सही उपयोग करने के लिए करते है। समय का सही उपयोग करके हम अपने लक्ष्य तक आसानी से पहुँच सकते है।

हम सभी प्रत्येक दिन प्राप्त होने वाले 24 घंटों का अधिकतम लाभ उठाना चाहते हैं। हालांकि, कुछ लोग ही इस सही समय का उपयोग करके अपने लक्ष्य की प्राप्ति कर पाते है।

समय प्रबंधन तरीकों का इस्तेमाल करके आप अपने आप को फोकस कर पाएंगे। और आपके लिए लक्ष्य को पाना और आसान हो जायेगा।  इस आर्टिकल में बतायी गयी “Time Management Tips in Hindi” का उपयोग करके आप दिन की योजना बना सकते है। और आप अपने लक्ष्य में सफलता प्राप्त कर पाएंगे।

🕒 समय का सही उपयोग करने के आसान तरीके – Time Management Tips

Time Management Tips in Hindi

Time Management Tips in Hindi

टाइम मैनेज करने के बहुत सारे सही तरीके है जिनका पालन कर आप अपने समय का सही उपयोग कर सकते है। टाइम मैनेजमेंट टिप्स कोई राकेट साइंस नहीं है की अपने टाइम मैनेजमेंट के तरीक़े पढ़े और आपका काम हो गया। आपको खुद समय का सही उपयोग को जीवन में अमल में लाना होगा, उसको अपनी दिनचर्या बनाना होगा।

टाइम मैनेजमेंट की ज्यादा जरुरत आपको स्कूल प्रोजेक्ट, क्लास नोट्स या ऑफ़िस प्रोजेक्ट करते समय पड़ती है। Time Management Tips PDF Download करके प्रिंट भी कर सकते है। और अपने दीवार पर चिप का सकते है।

टाइम मैनेजमेंट टिप 1:- टाइम टेबल बनाए।

समय सारणी (Time-table), अनुसूची (Schedule) सब बनाते हैं, पर उसे मानता कौन हैं? चलो दो चार दिन मान भी लिया, पर दो दिन बाद सब वहीं का वहीं । ऐसा दो कारणों से होता है, एक- आलस (Laziness), दूसरा- समय की पाबंदी । इसे मिटाने के लिया, आपको ‘अपना’ टाइम टेबल बनाना होगा और अपना मतलब अपना खुद का (टाइम टेबल डाउनलोड नहीं करना)

सुबह 6 बजे सब उठते हैं, रात 9 बजे सब सोते हैं, तो वो आपका अपना टाइम टेबल कैसे हुआ? कहने का मतलब ये नहीं की सुबह जल्दी ना उठे या रात को जल्दी ना सोयें। ये दोनों कार्य आपके मस्तिष्क और शरीर के लिए बहुत अच्छे हैं लेकिन जो घर बैठे काम करता है और रात 2 बजे दिमाग में सबसे अच्छे विचार (ideas) आते हैं वो सुबह जल्दी उठकर क्या करेगा?

मेरे ख्याल से उसे रात भर काम करना चाहिए और सुबह सोना चाहिए । हम सबके काम अलग होते हैं, तो हमारा टाइम टेबल भी अलग-अलग होना चाहिए ।

  • अपने शरीर की ज़रूरतों को जैसे 6-8 घंटे सोना चाहिये आदि को अपने टाइम टेबल में ज़रूर शामिल करें ।
  • विश्राम(Rest) के समय को काटकर कोई भी ध्यान भंग करने वाला काम ना करें क्योंकि विश्राम शरीर के लिए बहुत ज़रूरी है।
  • आलसी ना बने । Time Table को फॉलो करें।

तो Time Management की पहली Tips यही होगी की “अपना अलग टाइम टेबल बनाये, जो आपके शरीर और काम पर समान ध्यान देगा और उसे फॉलो करें।”

टाइम मैनेजमेंट टिप 2:- कामों करने की सूची बनाए और उसका पालन करे।

टाइम-टेबल एक सामान्य रोज़मर्रा चीज़ है । लेकिन हर दिन का एक अलग लिस्ट होता है । जो काम उसी दिन निपटाने होते हैं, उसका लिस्ट। To- Do list यानी कार्य सूची, जिसमें लिखा होगा, आपको दिन भर क्या करना है। लेकिन इसके साथ प्राथमिकता (Prioritization) का क्या संबंध है?

संबंध ये है कि कार्य सूची को ज़रूर फॉलो करें लेकिन कार्यों को ज़रुरत के हिसाब से क्रमांकित करें या यूँ कहें, तात्कालिकता (Urgency) के हिसाब से प्राथमिक बनाये । नीचे दी गयी चित्र का इस्तेमाल करें।

Urgent Vs Important - Your Time Management

Urgent Vs Important – Your Time Management

आपको यह समझना होगा कि हर काम का एक समय होता है और हर एक काम उस एक पल में आवश्यक नहीं होता है । अगर आप इस तरीके को अपनाते हैं और अपने काम को ज़रूरत के हिसाब से बाँट लेते हैं। तो आपके काम बड़े ही आसानी से होंगे और आपको भविष्य के कार्यों की फ़िक्र भी नहीं करनी होगी। क्योंकि एक बार अगर आप किसी चीज़ को कागज़ के टुकड़े पर लिखते हैं, तो वह सिर्फ़ कागज़ पर नहीं बल्कि आपके दिमाग में भी बैठ जाता है। ये कोई बेतुकी बात नहीं है ।

जब भी आप किसी चीज़ को अपनी आँखों से देखते हैं तो ज़्यादा देर तक दिमाग में रहता है जबकि आपकी कल्पना की हुई कार्यों को, जिन्हें आपको पूरा करना है, आपका दिमाग उसे जल्द-ही भूल जाता है । यह तरीका उन लोगों के लिए और भी लाभदायक है, जिन्हें चीजें भूलने की आदत है।

  • अपने पास एक प्लानर डायरी रखें या अपने स्मार्ट फ़ोन का लाभ उठाए और उसमें अपनी To-Do List बनाए।

तो Time Management की दूसरी Tips होगी, “कार्य सूची बनाए और उसे ज़रुरत के हिसाब से क्रमांकित करें।” आप Planner Diary, Online Planner या Daily Planner Format का इस्तेमाल कर सकते है।

टाइम मैनेजमेंट टिप 3:- समय बर्बाद करने वाली चीजों से दूर रहे।

अब जब आपका टाइम-टेबल भी तैयार है और To-do लिस्ट भी तो उन सारी चीज़ों को अपनी ज़िदगी से हटा दें जो आपका कीमती समय की बर्बादी कर रहें हैं ।

जैसे- आपका टेबल, हो सकता है आपका टेबल किताबों (Books) और फाइलों से भरा पड़ा है, या आपको सुबह अलमारी में कपड़े मिलने के बजाय ढूंढने पड़ते है । जाने अनजाने में ये आपका कीमती वक़्त जाया कर रहें हैं । अगर आपका रोज़ 5 मिनट बर्बाद होता है, तो इसका मतलब है हफ्ते में 35 मिनट और महीने में 2 घंटे 34 मिनट।

अगर आप ब्लॉगर या डिजिटल मार्केटर है तो कंप्यूटर से जंक फाइल और गैर ज़रुरी ब्राउज़र टैब्स को हटा दे। सिर्फ ज़रुरी चीजों पर ध्यान दे। इंटरनेट पर उपलब्ध करोड़ो कमाने वाली स्कीम पर ध्यान ना दे।

ये भी पढ़े:

  • ऑनलाइन पैसे कमाने के सही तरीके
  • ब्लॉग्गिंग क्या है और ब्लॉग्गिंग कैसे करे?
  • ब्लॉग या वेबसाइट कैसे बनाए

इन छोटी-छोटी चीज़ों को हम नज़रअंदाज़ कर देते हैं, जो शायद बाद में चुभतीं हैं । तो इन छोटी-छोटी चीज़ों को ध्यान में लिए आपको प्लान करना होगा ।

  • कौन सी चीज़ कहाँ रहेगी?
  • किस चीज़ को कितने दिन बाद बदलना होगा?

इन सबके लिए अलग समय बनाये ताकि हर रोज़ इनके पीछे 5-5 मिनट ना गँवाना पड़े । तो Time Management की तीसरी Tips होगी “छोटी-छोटी चीज़ों को नज़रअंदाज़ ना करें क्योंकि एक चिंगारी काफ़ी होती है, आग लगाने के लिए ।”

टाइम मैनेजमेंट टिप 4:- मल्टीटास्किंग से बचे और एक बार में एक पर ध्यान केंद्रित करें।

अब बात करते हैं काम करने के तरीके की । आज सब Multitasking पर यकीन करते हैं । एक समय पर एक से ज्यादा करने को मल्टीटास्किंग कहते हैं । पर क्या सच में ऐसा है? Multitasking कुछ हद तक अच्छा है जैसे- गणित करते हुए गाना सुनना अच्छा है जब बात कुछ बड़ा करने का हो, तो Multitasking हानिकारक साबित हो सकता है ।

कहते है, Multitasking से आपका ध्यान दो या तीन हिस्सों में बट जाता है जिससे आपकी कुशलता भी बट जातीं हैं और जो काम 1 घंटे में होना चाहिए उसे घंटों लग जाते हैं । विशेष रूप से बात करें तो किसी भी काम को करते वक़्त चाहे पढ़ाई हो या ऑफ़िस का काम अपने Social media से दूर रहें क्योंकि इससे समय का पता ही नहीं चलता की कब बीत गया।

ऐसे ही नए ब्लॉगर के साथ भी होता है। वे जल्द से जल्द पैसे कमाने के लिए सभी काम साथ में करते है। वे Blogging भी करते है, साथ ही YouTuber बन जाते है और साथ ही Freelancer भी बन जाते है। जिसके कारण वे एक चीज में महारत नहीं हासिल कर पाते है। इसलिए एक समय में एक काम करे और उसमे सफलता हासिल करने के बाद दूसरा काम शुरू करे।

तो Time Management की चौथी Tips यही होगी की, “समय और कार्य देखकर Multitasking करें क्योंकि उसके लाभ से ज़्यादा नुक्सान है और Social Media से बचे रहें।”

टाइम मैनेजमेंट टिप 5:- कम काम करे पर अच्छे से करे।

काम चाहे कोई भी हो, निपुण (Efficient) होना चाहिए। क्योंकि हर कोई काम का अंतिम रूप देखता है, उसके पीछे की मेहनत (Hard work) शायद ही कोई देखता है। आपकी ज़िम्मेदारी काम को अच्छे ढंग से पूरा करना है पर काम आप ही के द्वारा होना चाहिए ऐसा ज़रूरी नहीं है। ये उपाय अवश्य छात्रों के लिए नहीं है।

ऐसा कई बार होता है की जल्द-बाज़ी में आप काम को निपुण बनाना ही भूल जाते हैं, और काम को जैसे-तैसे ख़त्म करने की कोशिश करते हैं, ऐसे परिस्थितियों से बचने के लिए आपको करना होगा:

  • लोगों से अच्छा रिश्ता रखना होगा ताकि समय-असमय पर वे आपकी मदद करें । इसके लिए अपनी Communication skills को बढ़ाएं और दोस्तों से, सहयोगियों (Colleagues) से अच्छे संबंध बनाए ।
  • आजकल Outsourcing एक बहुत बड़ा विकल्प बन चुका है। उसकी सहायता लें। ये आपके समय को काफ़ी हद तक बचाएगा।

तो Time Management की पांच वी Tips ये होगी की “काम करने पर नहीं, काम की उत्तमता (Quality) को देखिये। ख़ुद निर्णय लें की कौन सा काम आप ही को करना होगा और कौन सा किसी और के करने से या यूँ कह लें किसी पेशेवर (Professional) के करने से, ज़्यादा अच्छा होगा।”

टाइम मैनेजमेंट टिप 6:- कम्फर्ट जोन से बहार निकले।

“अभी बहुत समय है” कहकर हम बहुत-सी चीज़ें टाल देते हैं। ख़ुद को एक दायरे में रखना जो एक सुखद दायरा है, आपके और आपकी कीमती समय के लिए नुकसानदेह है। अपने दायरे से बाहर निकलिये, अपने अंदर एक जोश लाए। आपका समय यूँ ही नहीं निकल जाया करेगा ।

“Step out of your comfort zone and your comfort zone expands.’’

मैंने बहुत बार सुना ही की कुछ माता पिता अपने बच्चो के बारे में ये कहते है की “अभी बच्चा है मस्ती करने दो, जब सर पर बोझ पड़ेगा सब कुछ सिख जायेगा।” में चाहता हूँ की आप ऐसा समय ना आने दे पहले ही संभल जाये।

एक बार बाहर निकल कर देखिये अपने दायरे से, आपका सुखद दायरा बढ़ जाएगा। पर हाँ कुछ वक़्त ज़रूर लगेगा। तो Time Management की छठी Tips ये होगी की “आप कम्फर्ट के पीछे ना भागे, कभी कभी कुछ चुनौतियाँ आपको बदल सकती है।”

टाइम मैनेजमेंट टिप 7:- खुद को प्रेरित और तनाव मुक्त रखे।

कई बार ऐसा होता है की हम अपनी ज़िदगी से, अपने काम से तंग आकर “मूड ख़राब है” कहकर काम करना और समय का सही इस्तेमाल करना भूल जाते हैं । यह स्वाभाविक है क्योंकि हम इंसान हैं परन्तु क्या आप जानते हैं कि हम अपने मस्तिष्क को चकमा दे सकते हैं?

ये बड़ा ही आसान है, बस अपने मन को समझाएं कि आप खुश (Happy) है और अभी काम करना बहुत ज़रूरी है। ख़ुद ही ख़ुद को प्रेरणा (Inspiration) दें और ख़ुद ही ख़ुद के तनाव (Stress) से दूर रखे।

  • अपने आस पास ऐसा माहौल बनाए जैसे हर एक चीज आपको प्रेरणा दे रही हो । कुछ प्रेरणा (Inspiration) देने वाले Motivational Quotes को अपने आस पास रखे।
  • अपनी मंज़िल की तस्वीर ये एक काल्पनिक छवि को अपने माहौल में शामिल करें।
  • आपको बड़े अच्छे से पता है की आपके मन को क्या चाहिए, तो अपने मन को उस चीज का दिलासा दीजिए।
  • ज़रूरत पड़े तो ख़ुद को थोड़ा डरायें, ‘अगर इस समय तक यह काम पूरा ना हुआ तो क्या होगा?’ परन्तु साथ ही साथ तनाव को अपने से दूर रखें । तनाव एक ऐसी चीज है जो भले मानुष को भी क्रोधी बना देती है ।

टाइम मैनेजमेंट टिप 8:- वेटिंग टाइम का सही इस्तेमाल करे।

ऐसा हर किसी के साथ होता है आपको एयरपोर्ट टर्मिनल पर वेटिंग रूम में इंतजार करना पड़ सकता है। आपको मीटिंग के समय इंतजार करना पड़ सकता है। ट्रेन और बस स्टेशन पर भी खाली समय मिल सकता है। ऐसा कभी भी और किसी भी के साथ हो सकता है।

कई बार तो ऐसा होता है की हस्पताल में भी चेक उप और रिपोर्ट के लिए घंटो वेटिंग लाइन में लगा रहना पड़ता है।

और सरकारी दफ़्तर में अपना काम करवाते समय आपको पूरा दिन भी लग सकता है 😉

इस ख़ाली समय का सही तरीके से इस्तेमाल करे। आप वेटिंग करते समय अपने ईमेल चेक कर सकते है, किताब पढ़ सकते है, Podcast सुन सकते है, मैडिटेशन कर सकते है और अगर आपके पास अपना लैपटॉप है तो वीडियो एडिटिंग और ब्लॉग भी लिख सकते है।

ये पढ़े: मैडिटेशन करने के पांच आसान तरीके – ध्यान लगाए कही भी कभी भी

टाइम मैनेजमेंट टिप 9:- ना कहना सीखें।

जी हाँ, अगर आप घर पर पढ़ाई करते है या घर से ब्लॉग्गिंग ये कोई और काम करते है तो जाहिर सी बात है की घर वाले आपको कोई ना कोई काम बोल देते है। और वो काम आपका कीमती समय के साथ साथ टाइम मैनेजमेंट को भी बिगाड़ सकता है। अगर आप ऑफिस में काम करते है तो आपको सहयोगी भी आपको कोई काम बोल सकते है जिससे आपका खुद के काम बीच में अटक जायेगा।

इसलिए हर किसी का ना कहना सीखें, जब तक की काम बहुत ज़रुरी ना हो।

टाइम मैनेजमेंट टिप 10:- कसरत, योग और मैडिटेशन करे।

अब ये मत कहना की कसरत, योग आसन और मैडिटेशन के टाइम मैनेजमेंट के साथ क्या सम्बन्ध है। जी, इसका बहुत बड़ा योगदान है आपकी दैनिक दिनचर्या में। हर रोज़ सुबह सुबह कसरत और योग आपके शरीर को स्वस्थ और निरोग रखते है। और आपके दिमाग और शरीर को तरोताज़ा रखते है। मैडिटेशन आपकी ध्यान केंद्रित करने की शमता को बढ़ाता है।

जब आपके ध्यान केंद्रित करने की शमता अधिक होती है तो आप सही और उचित निर्णय ले पाते है और अपने टाइम  मैनेजमेंट का भी पालन कर पाते है। फिर आपको आपके रास्ते से कोई नहीं डगमगा सकेगा।

ये भी पढ़े:

  • Time Management Quotes in Hindi
  • समय क्या है?

हिंदी ज्ञान पिटारा के ज्ञानकोष में आपको बताया गया है की “समय का सही उपयोग कैसे करे”, “समय का सही इस्तेमाल करने का सही तरीका”, “टाइम मैनेजमेंट टिप्स हिंदी में। ” आप इन Time Management Tips का PDF Download भी कर सकते है। किसी भी सुझाव के लिए नीचे कमेंट करे। और इसी तरह की ज्ञान विज्ञान और शिक्षा से जुड़ी जानकारी के लिए हिंदी में जानकरी वेबसाइट को सब्सक्राइब करे।