हम सभी दिन-रात अपनी और अपनों की लाइफ को आसान बनाने के लिए जूझते रहते हैं, हर वो कोशिश करते हैं जो हमें खुश रखें और इसी भागदौड़ में हमें पता ही नहीं चल पाता की हमारी ये छोटी सी ज़िदगी कब ऐसे ही दुनिया से लड़ते-झगड़ते ख़त्म हो गई ।

कितना अच्छा होता अगर ज़िदगी से सारी परेशानियाँ ख़तम हो जाती और सबकी ज़िदगी में बस ख़ुशियाँ ही ख़ुशियाँ भर जायें।

जीवन को खुशहाल बनाने के आसान तरीक़े - Things to Make Life Happier in Hindi

जीवन को खुशहाल बनाने के आसान तरीक़े – Things to Make Life Happier in Hindi (parent child tour PNG Designed By 588ku from Pngtree.com)

पैसा हमारी दुनिया की सबसे ताक़तवर चीज है और पैसे की अहमियत को नकारा नहीं जा सकता है लेकिन इसके अलावा ऐसी कौन सी चीजें है जो आपकी ज़िदगी को शांत, आसान बनायेंगी और आपकी लाइफ अपनों के साथ हंसते – मुस्कराते कट जायेगी।

आपकी जिंदगी में बहुत सी ऐसी चीज़े है जो की आपकी जिंदगी को खुश हाल बना सकती है। उतार चढ़ाव हर किसी के जीवन में आते है। इसका मतलब ये नहीं की आप मर जाये या मरने के इच्छा जताये। आपके पीछे पूरा परिवार है जिसको आपकी चिंता है और वो आपके सहारे है। “जीवन का मतलब उन चीजों के साथ खुश रहने का है जो आपके पास है।”

बहुत से लोग इतने ज्यादा डिप्रेशन से परेशान हो जाते है की वो इंटरनेट पर सर्च करते है: – “I want to Die myself” , “i want to Suicide“, “how to kill myself.” ऐसी अवस्था के लिए बहुत से Suicide Helpline Numbers और Suicide Prevention and Counselling NGO है। लेकिन ऐसी अवस्था बने ही क्यों? हम आपको जीवन में खुश रहने के आसान तरीक़े से रूबरू करवाएंगे।

जीवन को खुशहाल बनाने के आसान तरीक़े

दैनिक जीवन में खुश रहना आपके लिए और आपके परिवार के लिए बहुत अच्छा होता है। जब आपका परिवार आपको खुश देखता है तो वे भी खुश होते है। लेकिन कई बार किन्ही कारणों से आप परेशान हो जाते है। आप दूसरों की वजह से भी परेशान हो सकते है। पैसे की तंगी, किसी काम का ना बनना या पति पत्नी के बीच की परेशानियां

लेकिन ऐसे बहुत से आसान तरीके ही जिनसे आप इन परेशानियो को दूर कर पाएंगे एवं जीवन को खुश हाल बना पायेंगे।

1. भूल जाइए की किसी के लिए अपने अच्छा किया है।

आपने किसके लिए क्या-क्या अच्छा किया है उसको जितने जल्दी हो सके भूल जाइए। इससे आपके अंदर अहंकार की भावना आ जाती है। जो कहीं ना कहीं आपके संबंधों पर असर डालता है। आप ऐसा सोचिए की आपने किसी के लिए कुछ अच्छा नहीं किया बल्कि भगवान ने आपसे करवाया है। और भगवान के भेजे गए फरिश्ते है।

इससे आप अपनी ज़िदगी को बहुत हद तक आसान बना लेंगे और जितनी आसान ज़िदगी है, वो उतनी ही ख़ुशियों (Happiness) से भरी होती है।

खुश रहिए सबको खुशी बांटिए, भगवान को धन्यवाद कीजिए की उन्होंने आपको चुना है लोगो में ख़ुशियाँ बांटने के लिए, लोगो के लिए अच्छा करने के लिए।

अभी भूल जाइए जो भी आपने किसी के लिए अच्छा किया है जब ये गर्व जो की अहम है। यह अहम की भावना आपके मन से निकल जाएगी तो आप बहुत ही हल्का महसूस करेंगे। अपने अन्दर, एक अलग ही तरह की खुशी (Happiness) आपको अपने शांत मन में महसूस होगी ।

हमेशा याद रखिएगा की, “नेकी कर, दरिया में डाल।”

2. भूल जाइए की किसी ने आपका कभी बुरा किया है।

कितने बोझ हम लेकर चल रहे है अपने साथ कभी सोचिए, पल पल हमें कितना तनाव में डाल रहीं है ये सब बातें कि उसने मेरा बुरा किया, उसने ऐसा कर दिया, भुला दीजिए सब कुछ।

अगर आप वाकई चाहते हैं कि आपकी लाइफ बस यूँ ही हंसते गाते मुस्कुराते हुए निकले तो माफ़ कर दीजिए हर किसी को जिसने कभी बुरा किया था आपके साथ।

जैसे भगवान आपको माफ़ कर देते है आपकी ग़लतियों के लिए, आप भी सब कुछ भूल जाइए जो भी बुरा हुआ आपके साथ क्योंकि याद रख कर भी आप अपना ही नुकसान कर रहे होते हैं, अपने ही मन में जल रहे होते हैं ।

अभी बंद कर दीजिए सोचना हर उस बुरी चीज के बारे में जो आपके साथ हुई वो आपका भूतकाल था, वो निकल गया है, अपना आज मत बर्बाद कीजिए अपने बीते हुए कल के बारे में सोच कर। यह एक बहुत बड़ा कारण है हम सबके दुखी होने का ।

ज़रा सा अभी मुस्कुराइए और बस दिल से बोलिए कि कर दिया सबको माफ़ आपने, आपने सबको माफ़ कर दिया, समझ लीजिए भगवान ने आपको माफ़ कर दिया आपकी हर ग़लती के लिए।

3. जीवन के लक्ष्य को पहचाने।

“क्या साथ लेकर आयें हो, क्या साथ लेकर जाओगे” इस बात को कभी ना भूले की आपकी ज़िदगी का लक्ष्य (Goal) क्या है? जब आप अलविदा कहोगे इस दुनिया को तो क्या अपने पीछे छोड़ कर जाओगे। ये प्रश्न अपने आप से हमेशा पूछते रहें, ज़िदगी ऐसे जियें कि लोग आपकी मिसाल दें।

अपने लिए तो आप जी ही रहे हैं ज़िदगी पर दूसरों के लिए भी अपना समय दें। लोगो की भलाई के लिए कभी पीछे ना हटें। इस बात को दिल में बनाये रखें कि आप यहाँ हमेशा नहीं रहने वाले। यकीन मानिए मौत का एहसास आपको हमेशा जिंदा बनाये रखेगा।

कहीं ऐसा ना हो कि आपकी तिजोरियां ज़मीन में दफ़न ही रह जायें और आपका बुलावा आ जाये, अपने लिए तो हर कोई जीता है आपको अपने साथ-साथ सबके लिए भी जीना है ।

हम ज़िदगी भर इस दुनिया से लेने की कोशिश करते है, इसे छोड़ने से पहले ये हमारा फर्ज़ है की इसे कुछ देकर जायें। खुश रहें और ख़ुशियाँ बांटे, बस इसी लिए हमे यहाँ इस धरती पर भेजा गया है।

4. डर को भूल जाए।

डर-डर कर जीना बंद करें। आपने देखा होगा की जो इंसान डर-डर कर जीता है वो कभी किसी भी चीज में सफल (Success) नहीं हो पाता, आप अपने सबसे अच्छे निर्णय अपने डर की वजह से नहीं ले पाते, आप जो काम सबसे अच्छे से कर सकते हैं, आपका डर आपको वो करने ही नहीं देता।

डर-डर के जीना अभी से छोड़ दीजिए अपने आत्मविश्वास (Confidence) को बढ़ाइए। अपने आप की और अपने निर्णय की इज़्ज़त करना सीखीए, मुकाबला करना सीखीए अपने डर से, नहीं तो पछतावे के अलावा और कुछ हाथ नहीं रह जायेगा ।

5. ज़िदगी को जीना सीखीए।

ज़िदगी ख़ुशी ख़ुशी जीने के लिए आपको सबसे पहले ये सीखना होगा कि खुश कैसे रहा जाता है? और ये आपको बहुत अच्छे से सिखा सकता है एक छोटा बच्चा, एक छोटा बच्चा खुश रहता है क्योंकि उसे खुश रहने के लिए कोई बड़ी वजह नहीं चाहिए होती।

आपके चेहरे पर हमेशा उदासी छाई रहती है, लोग आपको चिडचिडा बोलते हैं क्योंकि आपको छोटी-छोटी बातों से खुश रहना नहीं आता। हमें छोटी चीजों से खुश रहने की कला सीखने की जरुरत है, बिना किसी वजह के खुश रहना सीखना होगा ।

आप अपनी ज़िदगी सही से जी रहे हैं इसका अंदाजा आपकी ख़ुशी (Happiness) को देख कर लगाया जाता है इसलिए सिख लीजिए बिना वजह खुश रहना और दूसरों को भी बिना वजह खुश रखना।

हम ख़ुशियों को चीजों में ढूंढने की कोशिश करते हैं की अगर मेरे पास ये होता तो में बहुत खुश रहता/ रहती पर असल में ख़ुशियाँ किसी चीज में नहीं है, यह एक एहसास है इस एहसास को आप किसी चीज में नहीं ढूंढ पाएंगे यह आपके अन्दर ही है।

बाहर की दुनिया की चीजें आपको कुछ टाइम के लिए तो खुश कर देती हैं पर आपको समझने की जरुरत है की जो भी आप करते हैं, जो भी आपके लक्ष्य है, जो भी आपकी महत्वाकांक्षाएं (Ambitions) या जो भी आपकी डिजायर यानी इच्छाएं हैं, उन सभी का अंतिम लक्ष्य है की आपके जीवन में शांति हो , आपकी ज़िदगी में ख़ुशियाँ (Happiness) हों।

6. सुख दुःख को अपनों के साथ साझा करे।

बुजुर्गो ने सच कहा है की “दुःख साझा करे से कम और सुख साझा करने से बढ़ता है।” इसलिए जब भी आप दुखी हो या कोई परेशानी अंदर ही अंदर खाये जा रही हो तो अपनों को बताइए। इससे ना सिर्फ आपका बोझ कम होगा बल्कि आपको समस्या का समाधान भी मिलेगा।

हर रोज़ अपने माता पिता,बहन भाई, पत्नी और बच्चों के साथ समय बिताने की कोशिश करे। इससे आप अपने और अपने परिवार के लिए जीने को प्रेरित होंगे। और आप पहले से कही अधिक खुश होगें। माता पिता के अनमोल वचन और सुविचार आपको एक अच्छा इंसान बनने में मदद करेंगे।

इसलिए बेवजह खुश रहिए और बेवजह सबको खुश रखिए। 

और जो आपका है वो आपसे कोई नहीं छीन सकता। इसलिए किसी ने खूब कहा है “दाने दाने पर लिखा होता है खाने वाले के नाम।”

जीवन में जो आपको भगवान ने जो दिया है उसमे ख़ुश रहिए। और जीवन में सुख दुःख को बराबर का दर्जा दे। जीवन को खुश हाल बनाने के आसान तरीकों को अपनाए और उनपर अमल करे। अगर जिंदगी जीने के उसूल पसंद आए तो अपने चाहने वालो के साथ शेयर करे। और इसी तरह की प्रेरणादायक अनमोल विचारों और हिंदी क्वोट्स के लिए हिंदी में जानकारी वेबसाइट को सब्सक्राइब करे।