ओह तो इसलिये घाटे में जा रहा है क्रिप्टो करेंसी

सबसे हाई रेट रहा था क्रिप्टो इस बार

इस साल नवंबर में बिटकॉइन का भाव लगभग 69 हजार डॉलर के ऑल टाइम हाई पर था अमेरिका अभी दुनिया में सबसे बड़ा बिटकॉइन माइनर है

अचानक से आ गया ढलान पर

डोजेकॉइन (Dogecoin), शिबा इनु (Shiba Inu) से लेकर सोलाना (Solana), पॉलीगॉन (Polygon), यूनीस्वाप (Uniswap) और कार्डैनो (Cardano) जैसे कॉइंस में भी गिरावट का दौर चल रहा है।

कुछ विशेषज्ञ इसके पीछे अमेरिका को वजह बता रहे हैं

एनर्जी के बेतहाशा इस्तेमाल से अमेरिका में एनवायरमेंट को लेकर चिंता बढ़ी है। क्रिप्टो माइनिंग से पर्यावरण पर पड़ने वाले असर को लेकर अमेरिकी कांग्रेस एक सुनवाई करने वाली है

सेंट्रल बैंकों के सख्त कदमों को भी बताया जा रहा है वजह

गवर्नमेंट और सेंट्रल बैंकों के सख्त होते कदमों के कारण बड़े निवेशकों ने क्रिप्टोकरंसी में निवेश से परहेज कर रहे है

कजाकिस्तान भी हो सकता है क्रिप्टोकरंसीज में गिरावट की वजह

बिटकॉइन माइनिंग में कजाकिस्तान की हिस्सेदारी 18 फीसदी तक है वहां लगभग पूरे देश में इंटरनेट से जुड़ी दिक्कत के चलते बिटकॉइन हैशरेट करीब 14 फीसदी गिर गया इससे वैल्यू में बड़ी गिरावट आई

क्रिप्टो की गिरावट में चीन का भी हो सकता है हाथ

अपने देश में कड़े नियमों से बचने के लिए कई चीनी माइनर्स ने भी अमेरिका में अपना ठिकाना बनाया है

गोल्डमैन के अनुसार क्रिप्टो का बढ़ेगा भाव

गोल्डमैन के अनुसार डिजिटल एसेट्स के प्रभाव को देखते हुए लोग गोल्ड से क्रिप्टो की ओर शिफ्ट होंगे ऐसा होने पर क्रिप्टो का मार्केट शेयर बढ़ेगा ऐसा होने पर बिटकॉइन का भाव एक लाख डॉलर तक भी चला जायेगा

बिटकॉइन ने इन लोगो को एक दिन में बनाया करोड़पति 😮

यहाँ देखे