यह अक्सर देखा गया है की लोग पूछते रहते है की सफल कैसे हुआ जाये (How to become Successful) या कौन-से तरीके है जिनको अपना कर हम सफल (Successful) हो सकते है? और कुछ सफल लोग बताते रहते है की वो कैसे सफल (Successful) हुए।

यह कहने को तो अच्छा है लेकिन ज़रा ध्यान से देखे तो हम सब अपनी खुद की पहचान और प्रॉब्लम सोल्विंग दक्षता को खत्म कर रहे है ऐसा करके हम पूरी तरह से कुछ नियमों या तरीकों पर निर्भर हो जाते है।

जीवन में सफलता के तीन नियम - 3 Keys to Success in Hindi

जीवन में सफलता के तीन नियम – 3 Keys to Success in Hindi

दरअसल हमारी सब की जिंदगी में सफलता के सारे नियम, तरीके छुपे हुए होते है पर दिक्कत तो यह है की हम सब लोग इतनी व्यस्तता वाली जिंदगी जी रहे होते है की उन पर हमारा ध्यान कभी नहीं जाता है।

यकीन नहीं होता – चलो बात करते है किसी भी एग्जाम में अच्छे मार्क्स कैसे लाये जाये,

मेहनत कर के? नहीं…

आपको पढ़ने के लिए मेहनत नहीं करनी आपको को तो अपनी समय बचत करने की आदतों पर ज़ोर देना है। जिससे आप थोड़ा समय ज्यादा निकाल लो पढ़ने के लिए, आपको खूब पढ़ने की बजाय रोज़ाना पढ़ने की आदत डालने की मेहनत करनी है। और ध्यान से पढ़ने की बजाय मज़ा लेकर पढ़ाई करनी है फिर देखते है कैसे अच्छे मार्क्स नहीं आते है। 🙂

इसी तरह जिंदगी के सभी पहलुओं पर ध्यान देंगे तो पाएंगे की अरे ये तो कितना आसान है यह तो मैं कर सकता हूँ, यह तो मैंने सोचा ही नहीं था, या फिर अरे मैं भी कितना पागल हूँ आइडिया मेरे पास था और मैं दुनिया से जानने की कोशिश में लगा रहा… आदि… आदि।

यहाँ मैं कुछ नियम नहीं बताने वाला…

ये तो कुछ ऐसे कदम है जो आप करेंगे और पाएंगे की वाह… सच में जिंदगी जीना आसान है, सफल होना आसान है क्योंकि हम सब सफल होने के लिए प्रयासरत है और इसके लिए हर संभव कोशिश हम करते है।

यदि बहुत प्रयासों के बाद भी सफल नहीं होते है तो अक्सर हिम्मत हार बैठते है और अपना विचार बदल लेते है, कुछ हालातों को जिम्मेदार मान लेते है और कुछ किस्मत को कुछ स्वंय को दोष देते रहते है पर इन सबके अलावा भी एक रास्ता है।

अगर थोड़ा सा बदलाव भी हम अपने सोचने के तरीके में कर लेते है तो उसके परिणाम सकारात्मक (Positive) ही आते है। चाहे कैसी भी परिस्थिति जिंदगी में क्यों ना हो ये तीन कदम ज़रूर अपनाए।

जीवन में सफलता के तीन नियम – 3 Keys to Success in Life in Hindi

1. रुको (Stop)

लगातार कोशिश करने के बावजूद भी सफलता ना मिलना मतलब यह समय हमारी कोशिश को रोक देने का है जी हाँ – थोड़ा ब्रेक ले अपने रूटीन से।

बाहर प्राकृतिक जगहों पर घूमने जाये, परिवार के साथ ज्यादा वक्त बिताये, अपने साथ वक्त बिताये, यह ठहराव आपको तरोताजा कर देगा और नयी उम्मीद देगा, ध्यान रहे यह ठहराव पूरी तरह से रुकने के लिए नहीं बल्कि नए सिरे से सोचने के लिए है।

2. देखो (See)

जब हम थोड़ा रुकते है तो हमें अपनी जिंदगी की उन तमाम आदतों और कार्यों के बारे में सोचने का वक्त मिलता है और हमें देखना है की कौन-से तरीके काम नहीं कर रहे है, हमारी कौन-सी आदतें (Habits) है जो हमें रोक रही है।

और हमें कौन मदद कर सकता है क्या हम सही दिशा में जा रहे है या नहीं, हमारी अब तक की असफलता के कारण क्या है आदि यह आकलन हमें पूरी स्पष्टता दे देता है।

3. बदलाव (Change)

आकलन के बाद अब वक्त आ गया है की उसके अनुसार नयी आदतें (Habits), नए तरीके और समय के अनुसार अपने आपको अपडेट किया जाये और कुछ नया सिखा जाये।

बदलाव का कदम थोड़ा तकलीफ़ भरा ज़रूर है लेकिन रुको और देखो वाली प्रकिया के बाद यह कदम आपकी असफलता (Failure) को सफलता (Success) में बदल देगा।

असल ज़िदगी तब जी जाती है जब छोटे-छोटे बदलाव होते हैं – लियो टॉलस्टॉय

उपरोक्त तीन कदम हम सब की जिंदगी से जुड़े हुए है और हम अपनी बड़ी से बड़ी समस्या या चुनौती को पार पा सकते है।

इसलिए कहा गया है की ज्ञान अर्जित करने से नहीं बढ़ता, ज्ञान तो उपयोग करने से बढ़ता है। और ये ज्ञान प्रकृति का है की कोई भी समस्या का समाधान आसान है यदि आप निश्चिंत होकर सोचे और ये तीन कदमों को अपनी जिंदगी का हिस्सा बना ले।

इसलिए रुको… क्योंकि रुकने से तुम जुड़ जाओगे अपने साथ, सोचों। क्योंकि सोचने से जिंदगी का असली ज्ञान तुम्हें गाइड करेगा और बदलो। क्योंकि बदलाव प्रकृति का नियम है और बदलने से ही तुम सफलता (Success) को प्राप्त करोगे।

आपको ये भी पढ़ना चाहिये:

सफलता के ये तीन अचूक टोटके आपको एक महान इंसान और सफल व्यक्ति बनने में मदद करेंगे। Hindi Success Tips पढ़ने से कुछ नहीं होगा, इनको जीवन में उतारना भी होगा। आपका एक साफ लक्ष्य होना चाहिये और उस लक्ष्य को पाने के लिए सदैव तत्पर रहे। इसी तरह के प्रेरणादायक, मोटिवेशनल और सेल्फ हेल्प के ऊपर अनमोल वचन और सुविचार के लिए हिंदी में जानकारी वेबसाइट को सब्सक्राइब करे।