हिंदी न्यूज़, हिंदी समाचार, हिंदी ज्ञान का पिटारा

Jio सिम से कॉल करने पर अब कटेगा पैसा, जिओ ने किया प्लान में बदलाव

जिओ ने प्रेस रिलीज़ में ये कहा है की 10 अक्टूबर के बाद से NON-Jio नंबर पर सभी कॉल के 6 पैसे प्रति मिनट का देना होगा। नॉन जिओ नंबर पर कालिंग के लिए IUC टॉप उप वाउचर भी ख़रीदे सकते है। एक वाउचर की न्यूनतम राशि दस रूपए है।

Jio जोकि एक बहुत बड़ी 4G Internet, DTH और fiber इंटरनेट कंपनी है ने 9 अक्टूबर को एक प्रेस रिलीज़ जारी किया है। जिओ ने अपने प्लान में बदलाव करते हुए बताये है की 10 अक्टूबर से जिओ से नॉन जिओ नंबर पर हर एक कॉल को 6 पैसे प्रति मिनट की दर से चार्ज किया जायेगा। और ये तब तक चलेगा जब तक IUC चार्ज को शून्य न कर दिया जाये।

जिओ ने ये कहा प्रेस रिलीज़ में

Jio परिवार के प्रिय सदस्य,

मोबाइल-कॉल-संबंधित शुल्कों पर हो रहे रेगुलेटर नीतिगत बदलावों के कारण, Jio के पास अब इसके अलावा कोई विकल्प नहीं बचा है, कि वह Non-Jio मोबाइल वॉयस कॉल के लिए अपने
ग्राहकों से शुल्क चार्ज करे।

10 अक्टूबर के बाद, आप जब भी रीचार्ज करेंगे, आपसे Non-Jio मोबाइल नंबरों पर सभी कॉल के लिए 6 पैसे / मिनट का शुल्क लगेगा। आप Non-Jio नंबर पर काल करने के लिए IUC Top-Up वाउचर खरीद सकते हैं। ये वाउचर न्यूनतम 10 रुपये की राशि से शुरू होंगे।

आपपर कोई अतिरिक्त बोझ न पड़े इसलिए हम इसके एवज़ में आपको प्रत्येक 10 रुपये पर 1 जीबी अतिरिक्त डेटा बिल्कुल फ्री देंगे ।

Jio अपने ग्राहकों के लिए सदा प्रतिबद्ध है और जियो से जियो पर होने वाले कॉल पहले की तरह फ्री ही रहेंगे। Jio के नेटवर्क पर मुफ्त कॉल की इन सुविधाओं का लाभ उठाने के लिए आप दूसरों को
Jio परिवार में आमंत्रित कर सकते हैं।

Jio के प्रति आपके समर्थन और विश्वास के लिए घन्यवाद।
टीम Jio

किस कारण हुए बदलाव

जिओ के प्रेस रिलीज़ के अनुसार उन्होंने तक एयरटेल, वोडाफोन, आईडिया जैसे कंपनी को अब तक 13,500 करोड़ IUC चार्ज दे चुके है। और जिओ के हिसाब से सभी नेटवर्क कंपनी इस बात का फायदा उठा रहे है। जिओ के अनुसार उनको डेली 30-35 करोड़ मिस कॉल मिलती है। और जिओ कस्टमर के वापस कॉल करने के कारण डेली 60-75 करोड़ मिनट का आउटगोइंग ट्रैफिक हो जाता है।

नॉन जिओ नंबर पर कालिंग के लिए IUC टॉप उप वाउचर भी ख़रीदे सकते है। एक वाउचर की न्यूनतम राशि दस रूपए है।

ये शुल्क सिर्फ 31 दिसंबर, 2019 तक ही लागु होंगे।

इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज (IUC) क्या है ?

इंटरकनेक्ट यूसेज चार्ज यानि IUC एक लागत राशि होती है, जोकि एक टेलिकॉम ओपेरटर दूसरे को देता है जब उसका कस्टमर दूसरे ऑपरेटर के कस्टमर को आउटगोइंग कॉल करता है। इस कॉल को ऑफ नेट कॉल कहा जाता है। भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) द्वारा IUC शुल्क तय किए जाते हैं जोकि 6 पैसे प्रति मिनट है।

IUC शुल्क को 1 जनवरी, 2020 से शून्य किया जा चूका है।

जिओ कस्टमर को मिली राहत

एक और जिओ ने नॉन जिओ आउटगोइंग कॉल पर छः पैसे प्रति मिनट शुल्क काटेगी। वही दूसरी और जिओ ने अपने कस्टमर को प्रति 10 रूपए के IUC वाउचर पर मुफ्त 1 GB डाटा देगी। जोकि एक फायदे का सौदा है।

जिओ को होगा फायदा

जिओ के सस्ते प्लान के कारण बहुत से कस्टमर जिओ में ट्रांसफर होंगे। बहुत से जिओ कस्टमर अपना शुल्क बचाने के लिए अपने परिवार, रिस्तेदारो को जिओ में लाने की कोशिस करेंगे जिससे जिओ कंपनी को काफी फायदा होगा।

जिओ ने इस प्लान में बदलाव की खबर सभी जिओ कस्टमर को भेज रही रही है और ये 10 अक्टूबर से लागु होगा।