क्या आपको पता हैं AC की केपैसिटी क्यू TON मे मापी जाती हैं , कारण जानकर हो जाओगे हैरान

Vikas Sharma
By Vikas Sharma  - Senior Editor
technologywhy capacity of air conditioner ac

एयर कंडीशनर गर्मी के महीनों में आपके घर या ऑफिस को ठंडा रखने का काम करते हैं। संक्षिप्त रूप में इन्हें ए.सी. कहा जाता है। एसी और रेफ्रिजरेटर दोनों एक ही प्रारूप पर काम करते हैं। फर्क सिर्फ इतना है कि रेफ्रिजरेटर एक छोटे से ढके हुए स्थान को ठंडा करता है, और एसी घर या कार्यालय में एक आरामदायक तापमान बनाता है। एसी अपने अंदर ऊष्मा ऊर्जा खींचते हैं और उसे स्थानांतरित करते हैं। आसान भाषा में कहा जाए तो एसी में सेंट्रल हीटिंग एंड कूलिंग सिस्टम दिया जाता है, जो मेटल शीट डक्टवर्क के जरिए ठंडी हवा भेजता है। इस प्रक्रिया में, यह गर्म हवा को अंदर खींचता है और फिर अपनी गर्मी को छोड़ देता है और इसे ठंडी हवा में बदल देता है।

AC की कैपेसिटी

यदि आपने कभी एयर कंडीशनर का उपयोग किया है, तो क्या आपने निर्देश पढ़े हैं? यदि आपके पास है, तो आप देखेंगे कि शीतलन क्षमता को किलोवाट या किसी अन्य इकाई में नहीं, बल्कि टन में मापा जाता है। एक एयर कंडीशनर के संबंध में “टन” शब्द का उपयोग करने से लगता है कि यह एक बहुत भारी वस्तु है, जबकि वास्तव में इसका वजन से कोई लेना-देना नहीं है। तो इसे टन में क्यों मापा जाता है? यहाँ उस प्रश्न का उत्तर है।

AC की कैपेसिटी को Ton में क्यों मापा जाता है?

एयर कंडीशनर के लिए माप की इकाई टन है, जो बताता है कि एसी एक घंटे में एक कमरे से कितनी गर्मी निकाल सकता है। अतीत में, प्राकृतिक बर्फ का उपयोग कमरों को ठंडा करने के लिए किया जाता था, और एक टन बर्फ कमरे को 24 घंटे तक ठंडा रखती थी। तो एयर कंडीशनर की माप उस पुराने मानक पर आधारित है।

1 टन एसी 1 टन बर्फ के बराबर

बर्फ की शीतलन क्षमता और एसी की शीतलन क्षमता समान होती है। दूसरे शब्दों में, 1 टन बर्फ से पैदा होने वाली ठंडक की मात्रा 1 टन एसी से भी पैदा होती है। तो अगर हम एक कमरे में 1 टन बर्फ और दूसरे कमरे में 1 टन एसी रख दें तो कमरे भी उतने ही ठंडे रहेंगे।

Share this Article